पैसा भुख नही मिटाता-Paisa Bhukh Nahi Mitata-hindisexstori - 2

007

Rare Desi.com Administrator
Staff member
Joined
Aug 28, 2013
Messages
68,481
Reaction score
541
Points
113
Age
37
//asus-gamer.ru पैसा भुख नही मिटाता-Paisa Bhukh Nahi Mitata-hindisexstori - 2



पैसा भुख नही मिटाता - Paisa Bhukh Nahi Mitata - hindisexstori - 2

मैने निखिता के निपल्स चूसना जारी रखा. वो अब आपने चुटटर उठा उठा कर लंड से चुदवाने लगी. वो क़िस्सी कुट्टिया की तरह हाँफ रही थी. मेरी उतेज्ना भी बाद रही थी. मैने निखिता के नितंभ आपने हाथों में ले रखे थे और उसको क़िस्सी मर्द की तरह चोद रही थी. मैने एक उंगली उसकी गान्ड में घुसेड डी और वी सिशकउठी. मैं उसकी दोहरी चुदाई कर रही थी. उसस्के गोरे बदन पर पसीने की बूँदें चमक रही थी. "अहह.ज़ोर से.ज़ोर से चोद साली.मैं झार रही हूँ.मदरचोड़ चोद मुझे.है..हाऐी पेल मेरी छूट..सुरभि.ज़ोर से चोद!!" मेरी सहेली बिलख रही थी. मैं तूफ़ानी चुदाई कर रही थी.तभी मैने दूसरी उंगली भी उसकी गान्ड में पेल डाली. निखिता खुद आपने हाथ से आपने क्लिट को रगड़ने लगी. क्मरा सेक्स की आवाज़ों से गूँज रहा था." कैसी लग रही है आपनी चुदाई

मेरा डिल्डो उसकी चुत रस से भीग चुका था और मेरी गान्ड आप्पर नीचे हो कर निखिता को चोद रही थी. निखिता की कमर अब धीरे धीरे शांत होने लगी थी और मेरा रब्बर का लंड अभी उसकी चुत में समाया हुआ था की अचानक दरवाज़ा खुला. संजय, मेरा भाई सामने खड़ा था और हम को आँखें फाड़ कर देख रहा था. हम दोनो को नंगा बिस्तर पर चुदाई में मशगूल देख कर उसकी आँखें फटी की फटी रह गयी थी. कुच्छ देर तक की ना बोल सका.

फिर संजू कुच्छ संभाल कर बोला," दीदी, सॉरी मैं अचानक चला आइया. मुझे नहीं मालूम था की आप इस तरह..ई आम सॉरी दीदी.जिज़्जु कहाँ हैं? ये सब किओं? ई आम सॉरी!" उसकी आवाज़ लड़खड़ा रही थी. मुझे कुच्छ नहीं सूझ रहा था की किया कहूँ. तभी निखिता मेरे नीचे से निकल कर बोल पड़ी," संजू, तू तो जनता ही है की तेरे जिज़्जु विदेश मैं गये हुए हैं. मेरे पाती भी यहाँ नहीं हैं और मैं और तेरी बहना कितनी गरम औरात हैं? इस गर्मी के मौसम में हम से रहा नहीं गया. सुरभि और मैं वासना की आग में जल रही थी. मुझे और तेरी बेहन को चुदाई की आग जला रही थी. पहले हम क़िस्सी जिगलो को बुलाना चाहती थी. लेकिन बाद में तेरी प्यारी दीदी के इस लंड से हम आपनी हवस को शांत करने लगी. लेकिन अब तो तुम आ गये हो. अब हमारे पास डिल्डो भी है और जिगलो भी, तुम आ गये हो तो हुमको असली लंड और नकली लंड से चुदवाने का मौका मिल जाएगा. किओं किया ख्याल है, संजू?"

"मैं..निखिता दीदी..कैसे?..सुरभि दीदी मेरी सग़ी बेहन है.नहीं एस्सा नहीं हो सकता.मैं तो बस यूँ ही..उफ़फ्फ़ नहीं कर सकता.प्लीज़!!" वो बुदबुदाने लगा. निखिता उठी और संजू के पास जा कर उसस्के गले में बाहें डाल कर बोली," संजू मेरे छ्होटे भैया, किया मैं तुझे सेक्सी नहीं लगती? और सुरभि तो साली चुद़ाकड़ औरात है जिस्सको देख कर बड़े बड़े मर्द पिघल जाते हैं," निखिता आपने होंठ संजू के कन के पास ले जा कर बोल रही थी," और तुझे मुफ़्त में दो दो रंडियन मिल रही हैं चोदने के लिए, बहनचोड़ मज़ा ले ले जी भर के. एससी ऑफर क़िस्सी नमार्द को भी मिलती तो आपने आपको खुश नसीब समझता. तू नही जनता की तेरी सुरभि दीदी, कितनी बड़ी चुद़ाकड़ रांड़ है"

मेरी ज़ुबान रुक गयी. निखिता साली किया बक रही थी. लेकिन मैने देखा की संजू मूह से कुच्छ बोले या ना बोले पर उसका लंड कुच्छ और ही कह रहा था. उसकी पेंट में लंड महाराज तंबू बना रहे थे. मदरचोड़ मेरा भाई मेरे ननगए जिस्म को घोर रहा था और मुझे उसका देखना अच्छा लग रहा था. आज पहली बड़ी मैं आपने भाई को एक मर्द के रूप में देख रही थी और मेरा प्यरारा भाई मुज़ेः एक रांड़ की तरह देख रहा था. मेरा दिल चाहता था की संजू मेरी सहेली की बात मन ले. आख़िर जब संजू ने मेरी तरफ देखा तो मैं मुस्कुरा कर बोली," संजू, शायद निखिता ठीक कह रही है. तुम एक मर्द हो और हम चुदसी औरातें. भाई बेहन का रिश्ता बाद में है. अगर एस्सा ना होता तो तेरा लंड एस खड़ा नहीं होता आपनी सुरभि दीदी को देख कर. तेरा इस चुत पर उतना ही हक है जितना अमित का. अब तुम हमारे तीसरे पार्ट्नर बन जयो, बस मेरी यही इच्छा है"

मेरे शब्दों ने मेरे भाई के मन से एक बोझ उठा दिया और उसने मन ही मन हमारी चुदाई में शामिल होने का फ़ैसला कर लिया. वो मेरी तरफ बढ़ा और मुझे गले से लगते हुए बोला" दीदी, सच कह रही हो तुम. मैने तुम जैसी सेक्स लड़की नहीं देखी. कब से तेरे नंगे जिस्म की याद में मूठ मराता रहा हूँ. तेरी सुहागरात वाले दिन मैने तेरी सेक्सी आवाज़ें सुनी थी और अमित जिज़्जु से मुझे अबहोत जलन हुई थी. दीदी मैं यूयेसेस दिन अमित जिज़्जु की जगह लेना चाहता था. खाई देर आअए दरुस्त आए. और आपकी सहेली भी क़िस्सी से कम नहीं है, बिल्कुल परवीन बाबी जैसी है. तुम दोनो को पा कर मेरी ज़िंदगी बन जाएगी. दीदी तुम निखिता को इस डिल्डो से चोद चुकी हो, मुझे लगता है पहले मुझे तुमको ही चोदना चाहिए, किओं निखिता दीदी?"

सारे पर्दे हूट चुके थे. निखिता उठी और संजू के लिए एक पेग बना कर ले आई और उसकी गोद में बैठ कर मेरे भाई के चुचक चूमने लगी. मैं भी उठ कर संजू की शर्ट उत्तरने लगी. मेरे भाई का जिस्म बहुत बलिशट था. उसकी च्चती पर काले बाल थे और बाकी जिस्म गोरा चीता. संजू अब निखिता को चूम रहा था और उसकी चुचि को मसल रहा था. मैने भ आपना पेग बनाया और पीने लगी. नशा मुझ पर हावी हो रहा था. मैने ग्लास नी छे रख दिया और संजू को पिलाने लगी. मुझे आपने भाई को नशे में ला कर खूब बेशर्म कर देना था. मैने संजू की नंगी पीठ पर आपनी चुचि रगड़नी शुरू कर डी. मेरे भाई का लंड पेंट फाड़ कर बाहर आने को तड़प रहा था. जब निखिता संजू के लिए दूसरा पेग भरने गयी तो मैं उसको डबल पेग बनाए को कहा और खुद आपने भाई की पेंट की बेल्ट खोलने लगी.




"दीदी, तुम तो विँमी से काई गुना अधिक सेक्सी हो! मुझ पर तेरी जवानी का नशा चढ़ चुका है. अब तो तेरे भाई का लंड चाहे भी तो तुझे चोदे बिना ना रहेगा. और तेरे साथ निखिता जैसी औरात तो नसीब वालों को मिलती है. निखिता आपनी सहेली की कमर से ये डिल्डो तो अलग कर दो." संजू की पेंट मैं खोल चुकी थी. उसने सफेद अंदरवेर पहना हुआ था. मुझे आपनी कमर से बेल्ट खुलती हुई महसूस हुई. निखिता ने मेरी कमर से डिल्डो अलग कर दिया और यूयेसेस पर हाथ फेरने लगी." निखिता, नकली लंड से चुदया चुकी हो तुम, अगर दिल कराता है तो असली को स्पर्श कर के देखो. ये मेरा लंड आज दुनिया के सभी रीति रिवाज़ों को छोड़ कर आपनी ही बहन की चुत में घुसने जा रहा है और ये सोच कर मेरी उतेज्ना बढ़ रही है. मेरा लंड आपनो दीदी को नंगा देख कर पागल हो रहा है!"

मैने जब संजू का अंदरवेर नीचे सरका दिया तो उसका लंड एक नाग की तरह फूंकर उठा. गरम था मेरे भाई का लंड, जिसस का सूपड़ा गुलाबी था और उसस्के मुख से रस की बूँद निकल रही थी. मैने आपना मूह संजू के सूप़ड़े पर रख दिया और चूम लिया. "भैया, आज आपनी बेहन को आपने लंड को चूम लेने दो जैसे तुम इस्सको विँमी से चुस्वते हो. आज आपनी बेहन को पेल कर खुश कर दो." मैं उसस्के सूप़ड़े को मूह में ले कर चूसने लगी. संजू शराब पे रहा था और लंड चुस्वा रहा था. निखिता भी उसस्के पास आ कर बैठ गयी और वो उसकी चुचि को चूमने लगा.

"दीदी अब बस करो. मैं जल्दी झड़ना नहीं चाहता. मैं तुझे अच्छी तरह से चोदना चाहता हूँ. मैं कल तक यहीं रहने वाला हूँ. तब तक हम तीनो चुदाई का आनंद लेंगे. निखिता दीदी, तुमने कभी आपने पाती की गान्ड छाती है? मैं चाहता हूँ जब मैं सुरभि दीदी को चोदूं तो तुम मेरी गान्ड चतो. मेरी बीवी ने एक बारमेरी गान दछाती थी तो मुझे अबहोत मज़ा आइया था" संजू बोला और मेरे साथ बगल में लेट गया और निखिता उसकी पीठ की तरफ उसके साथ सात गयी और संजू की गर्दन से किस कराती हुई आपनी ज़ुबान को नीचे की तरफ बढ़ने लगी.
मैने आपनी टाँगें खोल डी और भैया का लंड पकड़ कर आपनी चुत पर रगड़ने लगी. भाई के लंड के स्पर्श से बेहन की चुत रो रही थी. मेरे भाई का लंड उठक बैठक कर रहा था. मैं संजू से चिपक रही थी." संजू, मेरे भाई, अब पेल दो आपना लंड मेरी चुत में. नहीं रहा जाता, मेरे भाई! इस नगोड़ी चुत को पेलो ज़ोर से. जिसस बेहन से न्यू एअर बँधवते थे, उससी को चोद डालो आज और बन जयो बहनचोड़, मेरे संजू भैया!" संजू ने आपने होंठों से मेरे मूह को बंद कर दिया और किस करते हुए आपने लंड को मेरी चुत मेऊन पेल दिया.
मेरी चुत में भाई के लंड के दाखिल होते ही मैं गणगना उठी. मेरे भाई का लंड मेरे पाती के लंड से काफ़ी अधिक बड़ा और मोटा था जो की मेरी चुत को भर रहा था. मेरे हाथ निखिता के बालो पर थे जो की मेरे भाई की गान्ड पर ज़ुबान फेर कर चाट रही थी. संजू भाई हम दोनो के बीच सॅंडविच बना हुआ था. मेरे बहनचोड़ भाई का लंड लोहे की तरह कड़ा था और मेरी चुत को मस्त मज़ा दे रहा था.

संजू ने ढकोन की बढ़ता बढ़ा डी. लंड मेरी चुत में तूफ़ानी गति से परवेश कर रहा था और मेरी चुत फुदाक रही थी," पेलो मेरे राजा भैया, पेलो आपनी बहन की चुत को! तेरी रांड़ बेहन तेरे लंड की भूखी है, पेल इसको मेरे भाई! संजू आपनी बेहन की चुत पेलते हुए कैसे लग रहा है मेरे बहनचोड़ भाई? मेरी चुत तो तेरा लंड खा कर धान्या हो गयी! तेरे जैसा लंड आज तक नहीं चखा था मेरी रंडी चुत ने. ऑश मेरे भाई कितना मस्त है तेरा लंड!!!!" संजू की ताक़त मेरे शब्द सुन कर दोगुनी हो गयी और वो मुझे पागलों की तरह चोदने लगा.

निखिता भी उठ कर समें आ गयी और मेरी चुचि को चूसने लगी. कभी कभी वो संजू के अंडकोष सहला देती और कभी उसको किस करने लगती. फिर अचानक निखिता ने आपनी चुत को संजू के मूह पर रख दिया और चुसवाने को बोली," संजू मदरचोड़, कैसा लग रहा है आपनी बेहन को चोद कर? साले खूब मज़े ले रहा है तू आपनी सुरभि दीदी की चुत में लंड प्रल कर. ले अब निखिता डिड की चुत चेट, इससका रस पे बहनचोड़. एक बेहन की चुटका स्वाद आपने लंड से और दूसरी का आपनी ज़ुबान से चख मदरचोड़ संजू!!" निखिता ने आपनी चुत के होंठों को अलग करते हुए चुत चुसवाना शुरू कर दिया और मेरा भाई मज़े से एक को चोदने और दूसरी को चूसने लगा.

मेरी चुत से रस का फॉवरा छ्छूट रहा था. इतनिुतेज्ना मैं कभी महसूस ना की थी. मेरे भाई का लंड फ़च फ़च कराता हुआ मेरी चुत को स्वर्ग दिखा रहा था. मैने संजू के अंडकोष पकड़ कर सहला दिए और वो पागल हो उठा. वो निखिता की चुत से मूह अलग करते हुए बोला"उफफफफ्फ़...ऊऊओह..आआरररघ्ज्ग.दीदी, मैं झार रहा हूँ.ऊऊहह बहनचोड़ बन गया हूँ..बहुत मस्त हो तुम मेरी बहना.एससी चुद़ाकड़ औरात मैने पहले नहीं देखी..आअहह..निखिता मेरी बेहन अब मेरी बीवी बन गयी है.तू मेरी बीवी है सुरभि दीदी.ऊऊहह.निखिता तुम मेरी हो...ऑश बहनचोड़..मैं झाराआा!!!"

मुझे आपनी चुत की गहराई में आपने भाई के लंड के रस की बरसात होती हुई महसूस हुई. उधर मेरी चुत ने पानी छोड़ दिया. संजू के अंडकोष मेरे चुटटर से टकरा रहे थे. निखिता हमारे समें आपनी चुत में उंगली डाल कर आपने आप को चोद रही थी. हम हाँफ रहे थे. चुत में लंड खलबली मचा रहा था. च्दायी अंतिम चरण पर थी. चुत और लंड रस मेरी चुत में मिल रहे थे. हानफते हुए मेरा भाई मुझे पर गिर पड़ा और मैं नीचे पड़ी रही. हम तीनो बिस्तर पर ढेर हो गये

पैसा भुख नही मिटाता - Paisa Bhukh Nahi Mitata - hindisexstori - 2
 

Users Who Are Viewing This Thread (Users: 0, Guests: 0)


Online porn video at mobile phone


অসমীয়া যৌন গল্পবাবিকে জ র করে চুদার গল্পमि रानीला रोज खपाखप झवतोninnai thathaiசக்களத்தி புண்டைஎன்னை ஓக்க துடிக்கும் சுண்ணிकडक पुच्चीபத்தினி காமகதைमन्दाकिनी को देकर मैंने गीता को पेलाHoli mein bahan ko chodaतनदुरसत चूतmalayali nalla mulakalum thudakalumசித்தி சிதி வாடி காமCondom Pottu Okkum Tamil Sex Story மோக அர்ச்சனை – இறுதி பகுதிమీ వాళ్ళ కావటం లేదా దెంగుడుதேவிடியா குடிசை செக்ஸ் வீடியொबन गई चुदक्कड़ रखैल मैंমার দুধের উপর মাল ঢেলে দেওয়া গল্পతెలుగు లంజలా కథలుತುಲ್kothi viricha xxx videoअभिसेक कि बिबिरक्षाबंधन की चुदाई की कहानीமாமியார் marumagansexstoryBangla choti incest জুলিப்ராமண மாமிகள் ஒக்கும் காட்சிகள் Xxx. Ganda. My. Hi. Lavada. Shuta. VidioSex bhabhi ki salvar mai pisap.comआटी चे स्थन थांबलेதமிழ் கமாக்கதைகள் அண்ணன் தங்கை ammaku konjam thankaiku konjam storyபுண்டையில் தூமைbegani sadi me bahen ki chudayi hindi sex storieshotal me nokari ke liye chudiसुलेखा की चुदाई मे चीखे निकाली कहानीযৌন কাহিনীমা ও আপুকে জোড় করে চুদাகணவனின் சம்மதத்துடன் என்னை ஓத்த மாணவர்கள்காம்பை கடித்து வருடினேன் தமிழ் காமக்கதைகள்bhen n randi bnkar paise chukaye storydevorce api ko chodaಅತ್ತೆ ಮಾಡಿದ ಬೊಂಬಾಟ್ ಪ್ಲಾನ್ -6জিভাৰ sex storyசின்ன பய்யன் சுன்னிய சப்பும் சிறுமி கதைఅమ్మ ను పెళ్లి చేసుకున్న కొడుకు కామ కథలుஅக்காவுடன் ஆய் போனேன்আনকোরা যোনি চোদার গল্পNurce ne liya lund xxxಕಾಮ ದಾಹbiwion ki adla badli maa ke sath milkar kiসাগর পাড়ে মাকে চোদাதமிழ் கார்டூன் காமவெறி கதைகள்ಸೂಳೆ sex kannada stories videoபெண்ணாக மாறினேன் காம கதைகள்selfie hot mp4 forumत्याचा लंड घेतला मीChut chudai ka cska clti bus me chudai hindi sex stroiesakkul vaasanai kaamakathaigalபச்ச பச்சயா பேசி ஓக்கும் காமகதைMeri to choot LAL ho Gaya bhaijankathaikal for kamumMajdor neta zindabad hindi sex storiesகணக்கு டீச்சர் தேவிடியா மவ!बायकांची अदलाबदली झवाझवी गोष्टीlehnga choli mei chud gyiஅடுத்தவன் ஓத்த புண்டையை கஞ்சியோட Www தமிழ்காமகதைகள் Comগুদটা চোষাতে খুব আরামmarakkamudiyatha kamakathiதெவிடியா பையா காமகதைகள்தங்கை பள்ளி வயது காமக்கதைகள்செம கட்டை தொடைChoti ldki fuk havey msnதலைமை ஆசிரியர் பெருத்த கூதியை ஓத்த காம கதைKunwari Ladki Ka Yovanপোদে ঠাপা sexstory44আপুর গোসল চটিwww.Bangla মামির সাথে এক খাটে ঘুমালাম।chaty.com