ईशा की दीदी के कारनामें - पार्ट 3

007

Rare Desi.com Administrator
Staff member
Joined
Aug 28, 2013
Messages
68,486
Reaction score
504
Points
113
Age
37
//asus-gamer.ru तीन लोगो ने कामिनी दीदी को कुतिया की तरह पटक पटक के चोदा था, हर जगह से घायल थी मेरी दीदी. पर इन सब के बावजूद दीदी उसको अपनी बेस्ट नाईट बताती है. दीदी अब सारी हदे पार करने के मूड में है. जबरदस्त sexy stories का दहकता हुआ किस्सा..

Hindi Sex Story के अन्य भाग-




पार्ट 3


----------

तभी दीदी को थोड़ा होश आया.

उसने मेरे को अपने चेहरे के पास बुलाया और बोला - मत रो, मेरी ईशा. सच में मुझे काफ़ी मज़ा आया. तू चिंता मत कर, आज की रात मेरी लाइफ की बेस्ट नाइट थी. मत रो, मेरी बहना.

मैं शॉक्ड रह गई की ये क्या है.

मुझे विश्वास ही नहीं हुआ की मेरे कान क्या सुन रहे हैं और मैं सोचने लगी - क्या सेक्स ने दीदी का दिमाग़ खराब दिया है. या मुझे सिर्फ़ समझाने के लिए, वो ऐसा बोल रही हैं.

तभी आंटी किचन से एक कटोरी में सरसो का तेल गरम कर लाई और मुझे दीदी की पूरी बॉडी में लगाने को कहा.

मैंने दीदी की चूत, जाँघ, गाण्ड और दूध वगैहरा पर काफ़ी सारा तेल लगा दिया और दीदी की ज़ख्मी बॉडी की मालिश की.

कुछ देर बाद, आंटी दीदी को पकड़ कर बाथरूम में ले गई और दीदी की टब में डाल दिया.

(दीदी आज तो, ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थी.)

ये देख कर, मैं फिर से रोने लगी.

दीदी लगभग 20 मिनट नहाने के बाद, रूम मे आई.

तब तक आंटी ने रूम को ठीक कर दिया था.

दीदी ने दूध पिया और अपने ऊपर एक कंबल डाल कर सो गई.

मैं और आंटी भी थोड़ा शांत हो गये, दीदी के सोने के बाद.

दीदी सुबह में 6 बजने पर सोई थी और शाम को वो 4 बजने पर उठी.

मैं रुपाली आंटी के साथ बैठी हुई, बगल के रूम मे एक मूवी देख रही थी.

दीदी कंबल ओढ़े हुए, मेरे रूम में आई और मुझे गले से लगा लिया.

मुझे काफ़ी मस्त लगा.

दीदी अभी भी लंगड़ा के चल रही थी पर वो अब पहले से ठीक दिखाई दे रही थी.

मैंने दीदी से पूछा - कैसी हो आप. ??

दीदी ने मेरी आँखों में देखते हुए कहा - हाँ, मेरी प्यारी बहना. मैं बिल्कुल ठीक हूँ. लेकिन सुन, मम्मी और डैडी से ये सब मत बताना. समझी ना.

मैंने कहा - चिंता मत करो, दीदी. बस अपना ख़याल रखना, आप. अब ऐसा दुबारा मत करना.

दीदी ने ये सुन कर मुझे और भी कस कर, अपनी आगोश में ले लिया.

फिर दीदी रुपाली से बोली - रुपाली दीदी. कल की रात, उन तीनों ने मेरी गाण्ड और चूत की मां चोद दी. कम से कम, तीनों ने मिल कर मुझे 10 बार चोदा. आख़िर में तो मेरी चूत से पानी निकलना बंद हो गया. हरमियों ने ना जाने तो कितनी बार मेरे ऊपर मुता भी. मेरी चूत और गाण्ड का छेद थोड़ा सा फट भी चुका है और काफ़ी खुजली हो रही है, अंदर. चल भी नहीं पा रही हूँ पर सबसे अजीब बात ये है की अभी भी अंदर काफ़ी चुदास लगी हुई है.

आंटी ने दीदी का कंबल हटाया और दीदी की चूत को फैला दिया और वो दीदी की चूत के अंदर देखने लगी.


दीदी अब पीठ के बल लेट गई और आंटी को अपनी चूत दिखाने लगी.

आंटी ने दीदी की चूत को देखा और ठीक से देखने के बाद, दीदी से बोली - तेरी चूत से तो जलने की अजीब सी बू आ रही है. (थोड़ा रुक कर) लगता है, तेरे पापा ने कोई ब्लू फिल्म देखते हुए तेरी मम्मी को चोदा था तभी तू इतनी चुदासी है. मुझे तो लगता है, कोई कितना भी तुझे चोद दे पर इस चूत की प्यास को पूरा बुझा नहीं सकता है. हालत देख, फिर भी बोल रही है चुदास लगी है. (थोड़ा रुक कर) पर इस टाइप की चूत का एक फायदा है की इस टाइप की चूत से काफ़ी सारे पैसे कमाए जा सकते हैं.

दीदी अब सोच में पड़ गई.


चुद चुद के कुआँ हो गयी थी दीदी की चूत

थोड़ा सोचने के बाद, उसने आंटी से बोला - तभी, कल रात में वो मुझे पैसा वसूल करके आपस में बात कर रहे थे. मुझे तो वो एक हफ्ते के, एक लाख देने को बोल रहे थे. मैंने उनसे ना बोल दिया.

आंटी ने दीदी से बोला - लेकिन, हाँ ये सब करने से पहले ठीक से सोच लेना. सच कहूँ तो मैंने भी ये सब किया है. तुझे सुन के अजीब लगेगा पर मेरे पापा के बीमार होने के बाद, मेरी माँ ने मुझे धंधे में उतारा. मेरी शादी का खर्चा निकालने तक तो ठीक था पर मेरी लालची माँ ने मुझे शादी के बाद भी नहीं बख्शा. और तो और, मेरे पति के मायके में रहते हुए भी ग्राहक ले आती थी. एक दिन, तुम्हारे अंकल की आँख खुल गई और उन्होने मेरी मां को मेरी रख वाली करते हुए और मुझे चुदते हुए देख लिया. उन्होने मेरी मां को मेरे पापा के सामने ही, नंगी करके और कपड़े फाड़ के चोदा और मुझे वापस ले आए. तब से उन्होने मुझे रंडी बना दिया और मेरे दलाल बन गये. बहुत बुरी बुरी तरह से, उन्होने मुझे चुदवाया. खैर, कुछ वक़्त बाद मैं भी मज़े लेने लगी. तेरी ही तरह चुदासी तो मैं भी थी नहीं तो पहले ही दिन, अपनी माँ को मना कर सकती थी या पकड़े जाने के बाद, शर्म से आत्महत्या कर सकती थी. मेरे सामने और मेरे पापा के सामने, मेरे पति मेरी माँ को कुतिया की तरह चोद रहे थे और तब भी आँखों में शर्म की जगह, मेरी चूत में पानी था. देख कामिनी, मज़े और पैसा तो दोनों बहुत हैं, इस धंधे में. बस इस टाइप की लाइफस्टाइल में, कभी यू टर्न नहीं होता.

दीदी ने बोला - बाप रे, आंटी. ऐसा भी होता है.

फिर दीदी थोड़ी देर शांत रही और फिर कहा - ठीक है, आंटी. मुझे मंजूर है. चुदाई का मज़ा भी लो और पैसे भी कमाओ, इसमें बुराई क्या है. वैसे भी रंडी तो मेरी सारी सहेलियाँ भी है क्यूंकी 2 3 बॉय फ्रेंड तो सभी के है. मैं साथ में पैसा भी कमा लूँगी. ढेर सारा पैसा.

आंटी ने फिर बोला - एक बार और सोच ले, कामिनी.

दीदी - सोच लिया, आंटी.

फिर आंटी ने फोन किया.

उस साइड पर, राजन अंकल थे.

आंटी ने स्पीकर चालू कर लिया.

उन्होंने दीदी की कंडीशन पूछी तो आंटी ने बोला - हालत छोड़िए. ये तो रंडी ही बनने को तैयार है. पैसे लेकर, चुदवाने को ये सही समझती है और इसे कोई ऐतराज नहीं है.

अंकल ने बोला - मैंने पहले ही कहा था. हरामखोर रंडी है, साली. एक काम कर, उसे 8 बजने पर तैयार कर देना. आज कामिनी का बाहर का प्रोग्राम है. एक हाइ क्लास पॉर्न मूवी बनाने वाला डाइरेक्टर और उसका प्रोड्यूसर सिटी मे आया हुआ है. तेरी बात हो चुकी थी. ये जाएगी तो काफ़ी अच्छे पैसे मिलेंगे.


आंटी ने बोला - क्या ये सेफ रहेगा. ??

राजन ने जवाब दिया - हाँ, क्यों नहीं. और तुम जैसी रंडियों के लिए क्या सेफ. तुम जैसी छीनाल, गली में कुतिया की मौत ही मरती हो. खैर, तू और तेरी माँ भी तो साली छीनाल है. मुझे फसाया की नहीं, तेरी बहन की लौड़ी अम्मा ने. देख रंडिया भी आम लड़कियों की तरह ही जीती हैं. बाहर भी जाती हैं. उनके बॉय फ्रेंड भी बनते हैं और पति भी. तेरी और तेरी माँ की किस्मत खराब थी, जो तुम्हें मैं मिला. कई चूतियों को कभी पता भी नहीं चलता. तू चिंता मत कर. और वैसे भी ये मूवी इंडिया में नहीं दिखाई जाएगी.

आंटी ने दीदी को देखा.

दीदी सब सुन रही थी.

दीदी ने थोड़ा सोचने के बाद, बोला - ठीक है. नो प्राब्लम. जीजू, सही कह रहे हैं और जब इंडिया में दिखाई ही नहीं जानी तो कैसी चिंता.

आंटी ने अंकल को बताया और फोन रख दिया.

ऐसा लग रहा था आंटी खुश नहीं थी पर दीदी तो शायद पैदा होते ही छीनाल बन गई थी.

फिर हम तीनों ने, थोड़ा मील लिया.

रुपाली ने दीदी को बाथरूम ले जाकर खुद ही नहलाया और फिर बाहर ले आई.

7 बजे तक, हम लोग मूवी देखते रहे.

फिर आंटी ने दीदी को हरी साड़ी, मिलते रंग का ब्लाउज, हरी ब्रा और पैंटी पहनने को दे दिया.

दीदी गोरी होने की वजह से, हरे रंग और साड़ी में कयामत लग रही थी.

फिर दीदी, अपने रूम मे आ गई.

आंटी ने एक ब्लू मूवी लगाई, जिसमे एक विदेशी गोरी लड़की को 3 नीग्रोस तीनों छेद में चोद रहे थे.

(दीदी का आज गैंग बैंग होने वाला था. राजन अंकल और उनके 6 दोस्तों के साथ. ये मुझे अगले दिन पता चला. इसीलिए आंटी दीदी को गैंग बैंग मूवी दिखा के तैयार कर रही थी.)

8 बजे तक, हम तीनों मूवीस देखते रहे.

(उस टाइम मुझे ये समझ नहीं आता था की इन गंदी मूवीस को देख कर, आख़िर लोगों को मिलता ही क्या है. मैं उस टाइम 12वी में ही तो थी. आज वही मूवीस मेरी लाइफ का एक हिस्सा हैं. लाइफ ऐसे ही तो चलती है.)

8 बजने पर, किसी ने डोर पे रिंग किया तो आंटी न दीदी को जाने को बोला.

दीदी बाहर गई तो उसने कल वाले ही एक लड़के को देखा, जो टाटा सफ़ारी के साथ बाहर दीदी को ले जाने आया था.

दीदी ने आंटी से डोर बंद करने को कहा और उस लड़के के साथ चली गई.

मैं सोच मे पड़ गई.

आख़िर, वो सब दीदी को बाहर क्यों ले गये.

वो सब काम यहाँ भी तो हो सकता था, तो फिर बाहर क्यों.

आज क्या होगा.


दीदी कल, किस हालत मे मिलेगी.

रात भर, मैं यही सोचती रही पर ये सब सोचने का अब कोई फायदा नहीं था.

दीदी, चुदवाने जा चुकी थी.

आख़िर वो उस राह पर चल पड़ी थी जिस पर चलने से उसको शायद, रुपाली रोकना चाहती थी.

खैर,

अगले दिन, मैं 10 बजने पर सो के उठी क्यूंकी पिछली दो रात से मैं ठीक से सो तक नहीं सकी थी.

उठते ही, मैंने देखा रुपाली आंटी और दो दूसरी औरतें (जो प्रोफेशनल रंडी थी) दीदी को बेहोशी के आलम मे दीदी के रूम मे ले जा रही थी.

बाहर एक बुलेरो खड़ी थी, जिसमे उसका ड्राइवर बैठा था.

ये दोनों रंडी, दीदी को घर पर छोड़ने आई थी.

मेरी कॉलोनी के सभी लोग ने दीदी को बुलेरो से उतरते देखा और उनकी हालत देख तमाशे का मज़ा ले रहे थे.

दीदी का ब्लाउज, लगभग पूरा फटा हुआ था.

उनका चेहरा और बाल, लड़कों के वीर्य से सने हुए थे.

होंठ के तो आज, दोनों किनारे फट गये थे.

(मैं उस वक़्त ये सोचने लगी, अब दीदी मम्मी को इसका क्या जवाब देगी.)

उन दोनों रंडी ने आंटी को कुछ दवाई दी, दीदी के लिए और जल्द ही वहाँ से चली गई.

उनके जाने के बाद, आंटी ने डोर लॉक किया और दीदी का फटा ब्लाउज उतार फेका.

दीदी का ब्रा, शायद उन लोगों ने रख लिया था.

दीदी, अभी भी बेहोशी की हालत में थी.

आंटी ने फिर दीदी को पूरा नंगा किया तो जो हमने देखा, उसे देख कर तो हम दोनों ही शॉक्ड रह गये.

मैं ज़ोर ज़ोर से रोने लगी और रुपाली आंटी के मुंह से भी, कुछ बोलते नहीं बन रहा था.

दीदी के बूब्स को इतना दबाया और निचोड़ा गया था की निपल्स के आस पास लाल और नीले निशान पड़ गये थे.

गालों पर इतने तमाचे मारे गये थे की वो सूज कर डबल हो गये थे.

दीदी की गाण्ड पर, नाख़ून के नोचने के मार्क्स बनाए गये थे.

नीचे, दीदी के पेटीकोट मे भी काफ़ी सारा ब्लड लगा था.

उनकी थाइस और उसके जायंट्स पर, बेल्ट से मारने के निशान थे.

चूत तो आज, पूरी नीली पड़ चुकी थी.

दीदी की गाण्ड पर भी पीटने के मार्क्स थे.

दीदी के बूब्स को ठीक से देखने के बाद, ऐसा लगा की वहाँ पर काफ़ी सारे नीडल चुभाये गये हैं.

दीदी की गाण्ड पर इतने बेल्ट्स से मारा गया था की उसकी कही-कही थोड़ी सी चमड़ी भी निकल गई थी.

Pages: 1
 

007

Rare Desi.com Administrator
Staff member
Joined
Aug 28, 2013
Messages
68,486
Reaction score
504
Points
113
Age
37
//asus-gamer.ru तीन लोगो ने कामिनी दीदी को कुतिया की तरह पटक पटक के चोदा था, हर जगह से घायल थी मेरी दीदी. पर इन सब के बावजूद दीदी उसको अपनी बेस्ट नाईट बताती है. दीदी अब सारी हदे पार करने के मूड में है. जबरदस्त sexy stories का दहकता हुआ किस्सा..

Hindi Sex Story के अन्य भाग-




पार्ट 3



----------

तभी दीदी को थोड़ा होश आया.

उसने मेरे को अपने चेहरे के पास बुलाया और बोला - मत रो, मेरी ईशा. सच में मुझे काफ़ी मज़ा आया. तू चिंता मत कर, आज की रात मेरी लाइफ की बेस्ट नाइट थी. मत रो, मेरी बहना.

मैं शॉक्ड रह गई की ये क्या है.

मुझे विश्वास ही नहीं हुआ की मेरे कान क्या सुन रहे हैं और मैं सोचने लगी - क्या सेक्स ने दीदी का दिमाग़ खराब दिया है. या मुझे सिर्फ़ समझाने के लिए, वो ऐसा बोल रही हैं.

तभी आंटी किचन से एक कटोरी में सरसो का तेल गरम कर लाई और मुझे दीदी की पूरी बॉडी में लगाने को कहा.

मैंने दीदी की चूत, जाँघ, गाण्ड और दूध वगैहरा पर काफ़ी सारा तेल लगा दिया और दीदी की ज़ख्मी बॉडी की मालिश की.

कुछ देर बाद, आंटी दीदी को पकड़ कर बाथरूम में ले गई और दीदी की टब में डाल दिया.

(दीदी आज तो, ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थी.)


ये देख कर, मैं फिर से रोने लगी.

दीदी लगभग 20 मिनट नहाने के बाद, रूम मे आई.

तब तक आंटी ने रूम को ठीक कर दिया था.

दीदी ने दूध पिया और अपने ऊपर एक कंबल डाल कर सो गई.

मैं और आंटी भी थोड़ा शांत हो गये, दीदी के सोने के बाद.

दीदी सुबह में 6 बजने पर सोई थी और शाम को वो 4 बजने पर उठी.

मैं रुपाली आंटी के साथ बैठी हुई, बगल के रूम मे एक मूवी देख रही थी.

दीदी कंबल ओढ़े हुए, मेरे रूम में आई और मुझे गले से लगा लिया.

मुझे काफ़ी मस्त लगा.

दीदी अभी भी लंगड़ा के चल रही थी पर वो अब पहले से ठीक दिखाई दे रही थी.

मैंने दीदी से पूछा - कैसी हो आप. ??

दीदी ने मेरी आँखों में देखते हुए कहा - हाँ, मेरी प्यारी बहना. मैं बिल्कुल ठीक हूँ. लेकिन सुन, मम्मी और डैडी से ये सब मत बताना. समझी ना.

मैंने कहा - चिंता मत करो, दीदी. बस अपना ख़याल रखना, आप. अब ऐसा दुबारा मत करना.

दीदी ने ये सुन कर मुझे और भी कस कर, अपनी आगोश में ले लिया.

फिर दीदी रुपाली से बोली - रुपाली दीदी. कल की रात, उन तीनों ने मेरी गाण्ड और चूत की मां चोद दी. कम से कम, तीनों ने मिल कर मुझे 10 बार चोदा. आख़िर में तो मेरी चूत से पानी निकलना बंद हो गया. हरमियों ने ना जाने तो कितनी बार मेरे ऊपर मुता भी. मेरी चूत और गाण्ड का छेद थोड़ा सा फट भी चुका है और काफ़ी खुजली हो रही है, अंदर. चल भी नहीं पा रही हूँ पर सबसे अजीब बात ये है की अभी भी अंदर काफ़ी चुदास लगी हुई है.

आंटी ने दीदी का कंबल हटाया और दीदी की चूत को फैला दिया और वो दीदी की चूत के अंदर देखने लगी.

दीदी अब पीठ के बल लेट गई और आंटी को अपनी चूत दिखाने लगी.

आंटी ने दीदी की चूत को देखा और ठीक से देखने के बाद, दीदी से बोली - तेरी चूत से तो जलने की अजीब सी बू आ रही है. (थोड़ा रुक कर) लगता है, तेरे पापा ने कोई ब्लू फिल्म देखते हुए तेरी मम्मी को चोदा था तभी तू इतनी चुदासी है. मुझे तो लगता है, कोई कितना भी तुझे चोद दे पर इस चूत की प्यास को पूरा बुझा नहीं सकता है. हालत देख, फिर भी बोल रही है चुदास लगी है. (थोड़ा रुक कर) पर इस टाइप की चूत का एक फायदा है की इस टाइप की चूत से काफ़ी सारे पैसे कमाए जा सकते हैं.

दीदी अब सोच में पड़ गई.



चुद चुद के कुआँ हो गयी थी दीदी की चूत

थोड़ा सोचने के बाद, उसने आंटी से बोला - तभी, कल रात में वो मुझे पैसा वसूल करके आपस में बात कर रहे थे. मुझे तो वो एक हफ्ते के, एक लाख देने को बोल रहे थे. मैंने उनसे ना बोल दिया.

आंटी ने दीदी से बोला - लेकिन, हाँ ये सब करने से पहले ठीक से सोच लेना. सच कहूँ तो मैंने भी ये सब किया है. तुझे सुन के अजीब लगेगा पर मेरे पापा के बीमार होने के बाद, मेरी माँ ने मुझे धंधे में उतारा. मेरी शादी का खर्चा निकालने तक तो ठीक था पर मेरी लालची माँ ने मुझे शादी के बाद भी नहीं बख्शा. और तो और, मेरे पति के मायके में रहते हुए भी ग्राहक ले आती थी. एक दिन, तुम्हारे अंकल की आँख खुल गई और उन्होने मेरी मां को मेरी रख वाली करते हुए और मुझे चुदते हुए देख लिया. उन्होने मेरी मां को मेरे पापा के सामने ही, नंगी करके और कपड़े फाड़ के चोदा और मुझे वापस ले आए. तब से उन्होने मुझे रंडी बना दिया और मेरे दलाल बन गये. बहुत बुरी बुरी तरह से, उन्होने मुझे चुदवाया. खैर, कुछ वक़्त बाद मैं भी मज़े लेने लगी. तेरी ही तरह चुदासी तो मैं भी थी नहीं तो पहले ही दिन, अपनी माँ को मना कर सकती थी या पकड़े जाने के बाद, शर्म से आत्महत्या कर सकती थी. मेरे सामने और मेरे पापा के सामने, मेरे पति मेरी माँ को कुतिया की तरह चोद रहे थे और तब भी आँखों में शर्म की जगह, मेरी चूत में पानी था. देख कामिनी, मज़े और पैसा तो दोनों बहुत हैं, इस धंधे में. बस इस टाइप की लाइफस्टाइल में, कभी यू टर्न नहीं होता.

दीदी ने बोला - बाप रे, आंटी. ऐसा भी होता है.

फिर दीदी थोड़ी देर शांत रही और फिर कहा - ठीक है, आंटी. मुझे मंजूर है. चुदाई का मज़ा भी लो और पैसे भी कमाओ, इसमें बुराई क्या है. वैसे भी रंडी तो मेरी सारी सहेलियाँ भी है क्यूंकी 2 3 बॉय फ्रेंड तो सभी के है. मैं साथ में पैसा भी कमा लूँगी. ढेर सारा पैसा.

आंटी ने फिर बोला - एक बार और सोच ले, कामिनी.

दीदी - सोच लिया, आंटी.

फिर आंटी ने फोन किया.

उस साइड पर, राजन अंकल थे.

आंटी ने स्पीकर चालू कर लिया.

उन्होंने दीदी की कंडीशन पूछी तो आंटी ने बोला - हालत छोड़िए. ये तो रंडी ही बनने को तैयार है. पैसे लेकर, चुदवाने को ये सही समझती है और इसे कोई ऐतराज नहीं है.

अंकल ने बोला - मैंने पहले ही कहा था. हरामखोर रंडी है, साली. एक काम कर, उसे 8 बजने पर तैयार कर देना. आज कामिनी का बाहर का प्रोग्राम है. एक हाइ क्लास पॉर्न मूवी बनाने वाला डाइरेक्टर और उसका प्रोड्यूसर सिटी मे आया हुआ है. तेरी बात हो चुकी थी. ये जाएगी तो काफ़ी अच्छे पैसे मिलेंगे.

आंटी ने बोला - क्या ये सेफ रहेगा. ??

राजन ने जवाब दिया - हाँ, क्यों नहीं. और तुम जैसी रंडियों के लिए क्या सेफ. तुम जैसी छीनाल, गली में कुतिया की मौत ही मरती हो. खैर, तू और तेरी माँ भी तो साली छीनाल है. मुझे फसाया की नहीं, तेरी बहन की लौड़ी अम्मा ने. देख रंडिया भी आम लड़कियों की तरह ही जीती हैं. बाहर भी जाती हैं. उनके बॉय फ्रेंड भी बनते हैं और पति भी. तेरी और तेरी माँ की किस्मत खराब थी, जो तुम्हें मैं मिला. कई चूतियों को कभी पता भी नहीं चलता. तू चिंता मत कर. और वैसे भी ये मूवी इंडिया में नहीं दिखाई जाएगी.

Pages: 1
 

Users Who Are Viewing This Thread (Users: 0, Guests: 0)


Online porn video at mobile phone


मुझे सिगरेट पीते सेक्स करना अच्छा लगता है हिंदी सेक्स स्टोरीbiwi ka videsh me gangbang sexy kahanikanavan sunni chinnathu tamil kamakathaikalதிருட்டுத்தனமாக ஓத்ததுపిల్లాడిని కట్టేసి దెంగిన అమ్మதமி்ழ் காம கதை அம்மா புண்டை முடி இருக்குछिनाल भाभी ने पकडके चोदाठोकाठोकीमित्र ची सेक्सी आंटीबरोबर झवलोತುಣ್ಣಿಯ ರಸAssamese sex story jibonor maak r bush full story তারা তারি চুদে মাল আউট করে ফেলதங்கச்சி தோழி புண்டை முலை சூத்துmamanar marumagal tamil kamakadaigalఈరోజు కూడా నన్నుదెంగడానికి మీ నాన్న వస్తానన్నాడు .முடங்கிய கணவனுடன் சுவாதிmahi ray maridhi sex storie epsideosयहाँ लण्डो की चुसाई होती हैஐட்டி உள்ள பெரிய சுன்னிहुमच कर छोड़ाನನ್ನ ತುಲ್ಲಿಗೆ ಕೈ ಹಾಕೋಕನ್ನಡ ಲೈಂಗಿಕ ಕಥೆಗಳುnagpur mbil mulici zvazvi video mratiKathaigal nadukkam Tamil sex videos HDभोसरा।ओर।लनड।की।टकर।बीडीओ।అమ్మ పుకు చుపించు నాకుपुचची त बुललाJiska MC ho rahi ho x** chut rahi hai uski chut fadi x**Jab pati nahi laute pardes se tab Jethne sex kahani என்.மாமானர்.சுன்னி.என்.புண்டைशादीशुदा दीदी के साथ हनीमूनமுடங்கிய கணவருடன் சுவாதியின் வாழ்க்கை 8মা ছেলের করাকরি দখতে চাইমা মেয়ে কি একসাথে চুদার গল্পমেয়েদের কনডম দিয়ে চুদলে আর কোনো দিন বাচ্চা হবেন না.சுவாதி கட்டாயபடுத்தி kamaఅక్క కి మడ్డ రుచిbgla coti polpo 69 গোসলஅக்குள் காமக்கதைमोह का गाङ लंडNanum en nanbanum sex talil storiesmoothiram asai tamil sex storyதன்யா செகஸ் வீடியோமறதி காமகதைகள்পোদে গু চোদাबॉस ने माला झवलीചേച്ചി പൂർ തടവിচুদে ভোদার ভিতর হাত ঢুকিয়ে দিলামவேலகாரிகள் புண்டை வீடியோhjndisexstoryमेरी पत्नी को जबरदस्ती चेदा मेरे सामनेसाले की बीबी को चोदाती माझे गोट्या चोखत होतीআস্তে ঢুকাও ব্যাথা পাবো hotMaak khub chudilu kahiniললিতা চোদোন খেলাட்ரெயின் புண்டைஅம்மா ammnamদুটোর জন্য পাগল18+ dance bar ullu e01 complete seasonதெரியாமல் உரசி காமக்கதை￰മലദ്വാരത്തിൽ ഉമ്മ കൊടുക്കുന്നുxxxbhaujitamil alaku sex kaKhel khel me chut fadi bhai neशेजारची रांड बनलेxxxtamil kathai kutheഉമമയുടെ പൂർமாமியாரின் சந்தில்पावसातील झवाझवी कथाதிரும்படி பூவை வைக்கனும் காம கதைkaruvasi kamakkathiप्रवीण ने गाड़चोदाবোনের গুদ খেচা দেখে ধোন খেচলাম চটিবাবা আমার গুদে সিদুরAunty akayli bath dwonlodeধন,চেট,ভোদারছবিSimi didi ra bia pola kali odia sex storyladki ki seel todne par khoon nikla to rone lagi